हमें तुम से प्यार कितना, ये हम नहीं जानते

हमें तुम से प्यार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुम से प्यार …

सुना गम जुदाई का, उठाते हैं लोग
जाने ज़िंदगी कैसे, बिताते हैं लोग
दिन भी यहाँ तो लगे, बरस के समान
हमें इंतज़ार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुम से प्यार …

तुम्हें कोई और देखे, तो जलता है दिल
बड़ी मुश्किलों से फिर, सम्भलता है दिल
क्या क्या जतन करतें हैं, तुम्हें क्या पता
ये दिल बेक़रार कितना, ये हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुम से प्यार …

हमें तुम से प्यार कितना, यह हम नहीं जानते
मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना
हमें तुम से प्यार कितना …

मैं तो सदा की तुम्हरी दीवानी
भूल गये सैंयाँ प्रीत पुरानी
कदर ना जानी, कदर न जानी
हमें तुम से प्यार कितना …

कोई जो डारे तुमपे नयनवा
देखा ना जाये मोसे सजनवा
जले मोरा मनवा, जले मोरा मनवा
हमें तुम से प्यार कितना …

~~~~~~~~~~~~~~~~

Humein Tumse Pyaar Kitna Yeh Hum Nahin Jaante
Magar Jee Nahin Sakte Tumhare Bina

Suna Gham Judaai Ka Uthaate Hai Log
Jaane Zindagi Kaise Bitaate Hai Log
Din Bhi Yahaan To Lage Baras Ke Samaan
Humein Intezaar Kitna Yeh Hum Nahin Jaante
Magar Jee Nahin Sakte Tumhaare Bina
Humein Tumse Pyaar

Tumhe Koi Aur Dekhe To Jalta Hai dil
Badi Mushkilon Se Phir Sambhalta Hai dil
Kya Kya Jatan Karte Hain Tumhe Kya Pataa
Yeh Dil Beqaraar Kitna Yeh Hum Nahin Jaante
Magar Jee Nahin Sakte Tumhare Bina

Humein Tumse Pyaar Kitna Yeh Hum Nahin Jaante
Magar Jee Nahin Sakte Tumhare Bina
Humein Tumse Pyaar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here