eSim kya hota hai और यह दूसरे सिम कार्ड से अलग कैसे है?

अगर आप smartphones के बारे में थोड़ा बहुत भी जानते हैं तो आप iPhone के बारे में तो ज़रूर जानते होंगे। Apple कंपनी अमेरिका में स्तिथ है. और एप्पल कंपनी ही iPhone बनती है. eSim को मुख्यधारा में Apple ही लेके आयी है.

esim kya hota hai?

Apple iPhone के जितने भी नए फ़ोन हैं वह सब अब dual-sim फ़ोन्स हैं| और इन फ़ोन्स में आता है eSim कार्ड। यहाँ हम इसी ई-सिम कार्ड के बारे में ही आपको जानकारी दे रहे हैं.

ई-सिम को आप डिजिटल सिम कार्ड भी कह सकते हैं. आपको बता दें की फिलहाल यह सर्विस भारत में केवल Jio और Airtel ही दे रहा है.

What is an eSim and how is it different from a regular Sim Card? 

ई-सिम मोबाइल में लगने वाला एक वर्चुअल सिम होता है. ई-सिम (eSIM) का मतलब इंबेडेड सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल है. ई-सिम को फोन में लगाने की जरूरत नहीं होती है. ई-सिम के जरिए फिजिकल सिम के सभी सर्विस का फायदा लिया जा सकता है. यह एक तरह का चिप होता है जो सिम कार्ड की तरह ही काम करता है.

ई-सिम, फोन में या किसी डिवाइस में पहले से ही इंस्टॉल्ड रहते हैं मतलब ई-सिम को आप निकाल नहीं सकते. साथ ही इसे आप सभी डिवाइस में नहीं लगा सकते. सिम को टेलीकॉम कंपनियां एक्टिव करती हैं. इसकी खासियत यह है कि ऑपरेटर बदलने पर आपको सिम कार्ड नहीं बदलना पड़ता है. इसके अलावा स्मार्टफोन में सिम कार्ड स्लॉट की भी जरूरत नहीं होती है.

कोई सब्सक्राइबर यदि अपना टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर मतलब सिम बदलकर दूसरी सिम खरीदना चाहता है तो इसके लिए दूसरी सिम नहीं खरीदनी होगी बल्कि उसके मोबाइल फोन में इंबेडेड सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल (eSIM) डाल दी जाएगी और ई-सिम को अपडेट कर दिया जाएगा.

मई 2018 में भारत सरकार ने ई-सिम को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए थे. सरकार के निर्देश मुताबिक, हरेक मोबाइल यूजर अधिकतम 18 सिम का इस्तेमाल कर सकता है. जिसमें मोबाइल फोन के लिए नौ सिम और 9 मशीन-टू-मशीन सिम मिलाकर कुल 18 सिम के इस्तेमाल की इजाजत दी है. मतलब एक यूजर को अधिकतम 18 सिम कार्ड ही इश्यू किया जा सकता है.

ई-सिम इस्तेमाल करने से आपकी स्मार्टफोन बैटरी लाइफ बढ़ जाएगी. सॉफ्टवेयर के जरिए काम करने वाले ई-सिम में फिजिकल सिम की अपेक्षा में स्मार्टफोन के बैटरी की खपत कम होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here